बेटा चाहे कितना प्यारा हो

Publishing time:2021-10-27 12:34:03

जी क्रिकेटर का नाम बेटा चाहे कितना प्यारा हो 188bet शक्ति,fun88 android,lovebet 2021,lovebet जी,lovebet एस/पी,लवबेथपेज,बकारट 450,बैकरेट लिंक,सर्वश्रेष्ठ पांच पुस्तकें,ऑनलाइन कैसीनो का बड़ा विजेता,कैसीनो गेम्स ऐप,शतरंज 0 एलो,क्रिकेट 6 गेंद 6 छक्का,दुनिया में क्रिकेट टीम,निर्यात पोषण,फुटबॉल 5 नंबर,फ़ुटबॉल और रूंबा,एच खेल चप्पल,जमीन पर फुटबॉल कैसे खेलें,क्या लवबेट हम में कानूनी है,जंगल रम्मी.कॉम नियम और शर्तें,लाइव कैसीनो नए ग्राहक ऑफ़र,लॉटरी यूरोप,लूडो निंजा लाइट,आधिकारिक राजकुमार ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन गेम हैक ऐप डाउनलोड,ऑनलाइन प्रतिष्ठा,पेरिफेरल फुटबॉल टर्म,पोकर नियम हिंदी में,रूले कैलकुलेटर,रम्मी 360,रम्मीकल्चर मोबाइल ऐप,स्लॉट 101,स्पोर्ट्स जीके प्रश्न हिंदी में,सुपर बेटिंग मुफ्त है,सबसे अच्छा फुटबॉल टीम गीत,अंडुह १८८बेट,दुनिया में सबसे बड़ा चीनी रूले कौन सा है,64 स्टेटस वीडियो डाउनलोड,ऑनलाइन पैसे बनाएं translate,क्रिकेट घोषणा,गोवा स्थापना दिवस,तीन पत्ती स्टार गोल्ड,बरसात आने की संभावना,मछली पकड़ने का राजा,स्टेटस ओनली, .वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

लगातार दूसरा वित्त वर्ष रहा जब गोल्ड ईटीएफ में निवेश हुआ. इससे पहले 2013-14 से गोल्ड ईटीएफ से लगातार निकासी देखने को मिली थी.
नई दिल्ली: जोखिम बढ़ने और कोविड-19 महामारी के बीच अनिश्चितता के चलते निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.

यह लगातार दूसरा वित्त वर्ष रहा जब गोल्ड ईटीएफ में निवेश हुआ. इससे पहले 2013-14 से गोल्ड ईटीएफ से लगातार निकासी देखने को मिली थी. म्यूचुअल फंडों की संस्था एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

इसे भी पढ़ें: किसे सता रहा अमेरिका में महंगाई बढ़ने का डर?

माईवेल्थग्रोथ डॉट कॉम के सह-संस्थापक हर्षद चेतनवाला ने कहा कि इस बात की संभावना काफी कम है कि चालू वित्त वर्ष में भी गोल्ड ईटीएफ में निवेश का यह ट्रेंड जारी रहे. हालांकि, कोरोना की दूसरी लहर ने बाजार को डरा दिया है.

एम्फी के आंकड़ों के अनुसार हाल में समाप्त वित्त वर्ष में निवेशकों ने गोल्ड से जुड़े 14 ईटीएफ में शुद्ध रूप से 6,919 करोड़ रुपये का निवेश किया. यह 2019-20 में हुए 1,614 करोड़ रुपये के निवेश का चार गुना है.

इससे पहले 2018-19 में गोल्ड ईटीएफ से शुद्ध रूप से 412 करोड़ रुपये की निकासी हुई थी. 2017-18 में गोल्ड ईटीएफ से 835 करोड़ रुपये, 2016-17 में 775 करोड़ रुपये, 2015-16 में 903 करोड़ रुपये, 2014-15 में 1,475 करोड़ रुपये और 2013-14 में 2,293 करोड़ रुपये निकाले गए थे.

इसे भी पढ़ें: विदेशी निवेशकों ने अप्रैल में भारतीय बाजार से निकाले 929 करोड़ रुपये

हालांकि, साल 2012-13 के दौरान इस सेगमेंट में 1,414 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था. बीते कुछ सालों से रिटेल निवेशकों ने बेहतर रिटर्न की चाहत में गोल्ड ईटीएफ की तुलना में इक्विटी बाजार में अधिक पैसा डाला है.

क्वांटम म्यूचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर (ऑल्टरनेटिव इंवेस्टमेंट) चिराग मेहता ने कहा, "अधिक जोखिम और कोरोना वायरस के चलते बढ़ी अस्थिरता का असर इक्विटी जैसे जोखिम भरे एसेट्स को प्रभावित करेंगी. निवेशकों की दिलचस्पी गोल्ड जैसे सुरक्षित एसेट्स में बढ़ सकती है."




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

गोल्ड ईटीएफक्वांटम म्यूचुअल फंडएम्फीशेयर बाजारईटीएफएक्सचेंज ट्रेडेड फंडमाईवेल्थग्रोथ डॉट कॉमकोरोना वायरस

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read
वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) बहुपक्षीय विकास संस्थान एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईबी) ने मंगलवार को कहा कि वह भारत को भविष्य की स्वास्थ्य चुनौतियों से निपटने के लिये स्वास्थ्य संबंधी ढांचागत सुविधाओं को मजबूत बनाने में सहयोग करेगा। बीजिंग स्थित वित्तपोषण संस्थान ने कहा कि वह जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों से निपटने में सक्षम ढांचागत परियोजनाओं के विकास को लेकर भारत सरकार के साथ काम कर रहा है। एआईआईबी के अध्यक्ष जिन लिक्यून ने सालाना बैठक के दौरान अलग से ‘ऑनलाइन’ सम्मेलन में कहा, ‘‘जब हम परियोजना प्रस्तावों की जांच करते हैं, तो हम यह सुनिश्चित करने के लिए भारतनयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) देश में कई साइबर सुरक्षा संगठन हैं लेकिन ऑनलाइन क्षेत्र में सुरक्षा के लिए कोई जवाबदेह केंद्रीय निकाय नहीं है। राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक (एनसीएससी) राजेश पंत ने मंगलवार को यह कहा। उन्होंने यह भी कहा कि प्रस्तावित राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति सुरक्षा व्यवस्था के तहत इस अंतर को दूर करेगी। पंत ने कहा कि भारत में उत्कृष्ट संगठन हैं और पिछले एक साल में देश में साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में ‘शानदार’ बदलाव हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘कुल मिलाकर एक व्यवस्था मौजूद है लेकिन संचालन से जुड़े नियमोंआईएमएफ का भारत की वृद्धि को लेकर अनुमान ‘अत्यधिक कम आकलन’ : एन के सिंह

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) आयकर विभाग ने हाल ही में पंजाब की दो इकाइयों पर छापेमारी के बाद करीब 130 करोड़ रुपये की अघोषित आय का पता लगाया है। इनमें से एक साइकिल इकाई शामिल है। दूसरी इकाई छात्रों को विदेश भेजने और वीजा सेवाएं प्रदान करने का काम करती है। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। 21 अक्टूबर को साइकिल कारोबार में लगी इकाई की तलाशी ली गई। सीबीडीटी नेनयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा भारत के संभावित वृद्धि दर के अनुमान को संशोधित कर छह प्रतिशत करना ‘अत्यधिक कम अनुमान’ है। 15वें वित्त आयोग के चेयरमैन एन के सिंह ने मंगलवार को यह बात कही। आईएमएफ ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारत की वृद्धि की संभावना को नीचे किया है। सिंह ने अध्ययन एवं औद्योगिक विकास संस्थान (आईएसआईडी) द्वारा ‘विकास के लिए वित्तपोषण’ विषय पर आयोजित ‘ऑनलाइन’ परिचर्चा को संबोधित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि जो लोग अभी गरीबी से बचे हुए हैं, वे महामारीजिंदल स्टेनलेस का दूसरी तिमाही का शुद्ध लाभ पांच गुना बढ़कर 412 करोड़ रुपये पर

निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि चीनी मिलों ने इस महीने से शुरू होने वाले विपणन वर्ष 2021-22 में अब तक 18 लाख टन चीनी निर्यात का अनुबंध किया है तथा चीनी उद्योग की कंपनियों को अधिशेष स्टॉक को समाप्त करने के लिए कम से कम 60 लाख टन का निर्यात करने को कहा गया है। चीनी मिलों को नए निर्यात गंतव्यों का पता लगाने के लिए कहा गया है, क्योंकि अफगानिस्तान में घरेलू अस्थिरता के कारण वहां निर्यात प्रभावित हो सकता है।सिप में क्यों करना चाहिए लंबे समय तक निवेश

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


इंडियन चेस चैंपियन
रम्मी सबसे अच्छा डाउनलोड
ऑनलाइन पैसे बनाएं translate
रूले गुप्त रणनीति
सट्टेबाजी संख्या समझाया
स्पोर्ट्सबुक वायर एमएलबी
ऑनलाइन कैसीनो मुफ्त स्पिन असली पैसा
परिमच हिंदी डब फिल्में
खेल संबंधी गतिविधियां जो मांसपेशियों को मजबूत करती हैं
188bet ऑस्ट्रेलिया
यूरोपीय गेमिंग कंपनियों का परिचय
फुटबॉल विशेषज्ञ विश्लेषण
ईमोशनल स्टेटस
कैसीनो जम्मू
पैरिमैच न्यू कस्टमर ऑफर
रूले लाइव गोल्डबेट
casumo कैसीनो APK
स्लॉट मशीन रणनीति
खेलो पर जुआ uc
ऑनलाइन पोकर कोनिवि
बैकारेट प्ले विश्लेषण
चेस गेम रूल्स
क्रिकेट हिंदी में
शासन कशा
क्रिकेट live स्कोर
188bet प्रधान कार्यालय का पता
असली पैसे देने वाले स्लॉट गेम