• micro-blog
  • WechatWechat QR code

गुआनडोंग प्रांतिय लोक्स सरकार का होम पृष्ठ  >  News trends  >  Guangdong highlights

क्रिकेट fact

स्रोत: Nanfang Daily Online Edition     time: 2021-10-21 07:47:53

फुटबॉल टी-शर्ट ऑनलाइन दुकान क्रिकेट fact 188bet बोनस,casumo नो डिपॉजिट बोनस,leovegas ज़हल्ट निच्ट औस,lovebet ड्यूशलैंड,एस,lovebet.du/ky,एयू फुटबॉल शेड्यूल 2020,बैकारेट गेमप्ले और तकनीक,बैकारेट हर दिन एक अंक जीतता है,सट्टेबाजी उद्धरण यूरो 2020,कैसीनो डार्विन,कैसीनो हाँ,कॉम.शतरंज.घड़ी,क्रिकेट समाचार आज हिंदी में,एस्पोर्ट्स बेटिंग,फंतासी फुटबॉल लॉटरी ड्राफ्ट,फुटबॉल सस्केचेवान लॉटरी,जीएच फुटबॉल एसोसिएशन,फुटबॉल सट्टेबाजी की मात्रा की जांच कैसे करें,आईपीएल टी20,जेडी स्पोर्ट्स,लाइव कैसीनो कॉकटेल वेट्रेस,लॉटरी 7 जापान,लूडो बेडशीट,पैसा देने के लिए नया कार्ड,ऑनलाइन फ़ुटबॉल सट्टेबाजी सुरक्षित नहीं है,ऑनलाइन पोकर प्रश्नोत्तरी,पैरिमैच नया संस्करण डाउनलोड,पोकर लंगड़ा,रील स्लॉट सॉफ्टवेयर,तीन का नियम,रम्मी-0 गेम,स्लॉट मशीन क्वांडो पैगानो,भारतीय खेल प्राधिकरण भोपाल,स्पोर्ट्सबुक फिलीपींस,टेक्सास होल्डम रेगेलन,त्रि लॉटरी अस्पताल,ऑनलाइन कैश नेटवर्क कहां है,यंग विजडन क्रिकेट बुक,ऑनलाइन गेम्स डाउनलोड,क्रिकेट mazza,गोवा तो लखनऊ ट्रैन,तीन पत्ती ऑफलाइन,बकरा छीलने का तरीका,बेताब भोजपुरी,ववव लाटरी सम्बाद, ,ओला-ऊबर नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया, सरकार ने जारी कीं नई गाइलाइंस

  


  

ओला-ऊबर नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया, सरकार ने जारी कीं नई गाइलाइंस

  ओला-ऊबर नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया, सरकार ने जारी कीं नई गाइलाइंस

ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियां सबसे पीक आवर्स के दौरान किराये में कई गुना बढ़ोतरी कर देती हैं. अब सरकार ने इन कंपनियों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है.
ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियां सबसे अहम समय यानी पीक आवर्स के दौरान किराये में कई गुना बढ़ोतरी कर देती हैं. लेकिन अब सरकार ने इन कंपनियों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है.

सरकार ने शुक्रवार को ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियों के ऊपर मांग बढ़ने पर किराए बढ़ाने की एक सीमा लगा दी है. अब ये कंपनियां मूल किराए के डेढ़ गुने से अधिक किराया नहीं वसूल सकेंगी.

दरअसल सरकार का यह कदम अहम इसलिए भी हो जाता है, क्योंकि लोग कैब सेवाएं देने वाली कंपनियों के अधिकतम किराए पर लगाम लगाने की लंबे समय से मांग कर रहे थे. यह पहली बार है जब भारत में ओला और उबर जैसे कैब एग्रीगेटर्स को रेग्यूलेट करने के लिए सरकार ने दिशानिर्देश जारी किए हैं.

कार पूल करने वाले कमर्शियल प्लेटफॉर्म्स को भी नियमों का पालन करना होगा और इस लाइसेंस हालिस करना होगा. हालांकि, नए नियम तभी लागू होंगे, जब राज्य सरकारें उनसे जुड़ी अधिसूचना जारी करेंगे.

इसे भी पढ़ें: वैक्सीन का जायजा लेने पीएम मोदी पहुंचे अहमदाबाद, पुणे व हैदराबाद भी जाएंगे

कैब कंपनियों को डेटा स्थानीयकरण सुनिश्चित करना होगा कि डेटा भारतीय सर्वर में न्यूनतम तीन महीने और अधिकतम चार महीने उस तारीख से संग्रहीत किया जाए, जिस दिन डेटा जेनरेट किया गया था.

डेटा को भारत सरकार के कानून के अनुसार सुलभ बनाना होगा लेकिन ग्राहकों के डेटा को यूजर्स की सहमति के बिना शेयर नहीं किया जाएगा. कैब एग्रीगेटर्स को एक 24x7 कंट्रोल रूम स्थापित करना होगा और सभी ड्राइवरों को अनिवार्य रूप से हर समय कंट्रोल रूम से जुड़ा होना होग.

नए नियमों के मुताबिक, कैब कंपनी को बेस फेयर से 50 फीसदी कम चार्ज करने की अनुमति होगी. केंद्र सरकार ने एग्रीगेटर को रेगुलेट करने के लिए गाइडलाइन्स जारी किया है जिसका राज्य सरकारों को भी पालन करना अनिवार्य होगा.

वहीं, कैंसिलेशन फीस कुल किराए का दस प्रतिशत होगा, जो राइडर और ड्राइवर दोनों के लिए 100 रुपए से अधिक नहीं हो सकता. ड्राइवर को अब ड्राइव करने पर 80 फीसदी किराया मिलेगा, जबकि कंपनी को 20 प्रतिशत किराया ही मिल सकेगा.

मंत्रालय ने बयान में कहा है कि इससे पहले एग्रीगेटर का रेगुलेशन उपलब्ध नहीं था। अब इस नियम को ग्राहकों की सुरक्षा और ड्राइवर के हितों को ध्यान में रखकर बनाया गया है जिसे सभी राज्यों में लागू किया जाएगा. बता दें कि मोटर व्हीकल 1988 को मोटर व्हीकल एक्ट, 2019 से संशोधित किया गया है.



हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

केंद्र सरकारमोटर व्हीकल एक्टराज्य सरकारकैब एग्रीगेटर्सटैक्सीओलाकैब कंपनियांउबर

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

ये हैं 8 नए फीचर वाले स्‍मार्टफोन, जानिए क्‍या हैं इनकी खूबियां

इसके पहले मारुति सुजुकी, फोर्ड, महिंद्रा एंड महिंद्रा, रेनॉ और होंंडा अपनी कारों के दाम बढ़ाने का एलान कर चुकी हैं.नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव ने बुधवार को कहा कि असंगठित और संगठित दोनों क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों का कल्याण महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि सरकार स्त्री-पुरुष समानता, जीवन को सुगम बनाने के साथ कारोबार सुगमता को बढ़ावा देने की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने मुख्य श्रम आयुक्त (केन् द्रीय) का एक नया प्रतीक चिह्न जारी करने के मौके पर यह बात कही। वर्ष 1945 में स्थापित इस संगठन को केन् द्रीय औद्योगिक संबंध मशीनरी (सीआईआरएम) के रूप में भी जाना जाता है। इस मौके पर श्रम और रोजगार राज्यमंत्री रामेश्वर तेली भी मौजूदकामगारों का कल्याण महत्वपूर्ण, सरकार स्त्री-पुरूष समानता, जीवन सुगम बनाने पर कर रही काम: यादव

ऑडी इंडिया ने इस साल घरेलू बाजार में क्यू8, ए8 एल, आरएस 7 स्पोर्टबैक, आरएस क्यू8, क्यू8 सेलिब्रेशन और क्यू2 मॉडल पेश किए हैं.औरंगाबाद, 20 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय कोयला एवं रेल राज्यमंत्री रावसाहेब दानवे ने बुधवार को दावा किया कि महाराष्ट्र सरकार ने अतिरिक्त कोयला भंडार उठाने से इनकार कर दिया था जिसकी वजह से राज्य में बिजली संकट की स्थिति पैदा हुई। भाजपा नेता ने यहां संवाददताओं से कहा, ‘‘इस मुद्दे पर मेरा राज्य के साथ पत्राचार हुआ था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने राज्य सरकार को अतिरिक्त कोयला उठाने को कहा था। लेकिन राज्य सरकार ने पत्र लिखकर इससे इनकार कर दिया था। केंद्र के पास कोयले का पर्याप्त भंडार है लेकिन राज्य ने इसे नहीं लिया।’’ पिछले सप्ताह राज्य केकेंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में सहकारी क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध : वर्मा

बुधवार को देश की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने भी अपनी कारों के दाम बढ़ाने का एलान किया था. कीमतों में यह बढ़ोतरी जनवरी से लागू होगी.नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को कहा कि सरकार अगले छह-आठ महीनों में सभी वाहन विनिर्माताओं से यूरो-छह उत्सर्जन मानदंडों के तहत फ्लेक्स-ईंधन इंजन बनाने के लिए कहेगी। फ्लेक्स-ईंधन या लचीला ईंधन, गैसोलीन और मेथनॉल या एथनॉल के संयोजन से बना एक वैकल्पिक ईंधन है। एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गडकरी ने आगे कहा कि अगले 15 वर्षों में भारतीय वाहन उद्योग 15 लाख करोड़ रुपये का होगा।दिवाली से पहले धनतेरस में सिक्कों और हल्के आभूषणों की बिक्री बढ़ी



Relevant reports:पोकर एक शब्द
Relevant reports:cricket स्कोर
Relevant reports:फुटबॉल सिस्टम रेंटल
Relevant reports:लॉटरी स्कैनर
Relevant reports:lovebet प्रोमो कोड कोई जमा नहीं
Relevant reports:ऑनलाइन लाइव बैकरेट
Relevant reports:ईमानदारी स्टेटस इन हिंदी
Relevant reports:क्रिकेट बुक डाउनलोड
Relevant reports:किस कंपनी के पास उच्च बैकरेट छूट है
Relevant reports:कौन सा नकद शतरंज का खेल सबसे अच्छा है
Relevant reports:कैसीनो 7 खेल
Relevant reports:lovebet3
Relevant reports:गोवा छठ पूजा
Relevant reports:टेक्सास होल्डम जैकीना कराटा
Relevant reports:एनवाई लॉटरी परिणाम
Relevant reports:ऑनलाइन गेमिंग उद्योग
Relevant reports:स्लॉट मशीन जोना जियाला
Relevant reports:पोकर खेळाचे नियम
Relevant reports:lovebet फ्री बेट
Relevant reports:आईपीएल सूची
Relevant reports:लूडो यार्स गेम डाउनलोड
Relevant reports:क्रिकेट के
Relevant reports:लाइव कैसीनो वेस्टमोरलैंड मॉल
Relevant reports:कैसीनो के खेल pdf
Relevant reports:कैसीनो कोई जमा की आवश्यकता नहीं है
Relevant reports:लॉटरी बोर्ड
Relevant reports:lovebet क्रिकेट नियम

【font:large in Small
प्रतिलिपि अधिकार: दक्षिण न्यूज नेटवर्कगुआनडोंग आईसीपी तैयार 05070829 website identification code 4400000131
Sponsor: नान्फांग न्यूज़र नेटवर्क co sponsor: Guangdong Provincial Economic and Information Technology Commission contractor: Nanfang news network
1024 is recommended × Browser with 768 resolution above IE7.0