बकरा ओर

बकरा ओर

time:2021-10-21 06:30:55 लंबी अवधि में क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में मदद करेगी? Views:4591

एच खेल चप्पल बकरा ओर 188bet दर्पण,casumo सत्यापन,lovebet 1x2 टिप्स,lovebet एक्सचेंज,lovebet ने उन्हें उद्धृत किया,lovebetौ माली,बैकारेट १८७१ डोल्से फ़ार निएंटे,बैकारेट ज्वेलरी,बैटरी कनेक्शन,सट्टेबाजी यूट्यूब बनाम टिकटोक,कैसीनो ऊर्जा,कैसियो क्वार्ट्ज,क्रिकेट 11,क्रिकेट रेडिट,भारत में निर्यात,फुटबॉल 0-0,फ़ुटबॉल URL बैकअप,गोल्डन चिप्स लवबेट,ऑनलाइन लॉटरी सट्टेबाजी कैसे खोलें,क्या बैकारेट एजेंट ऑनलाइन गेम विश्वसनीय है?,जंगल रम्मी ऑनलाइन लॉगिन,लाइव कैसीनो जीप सस्ता,लॉटरी चेक,लूडो जीतो,ओ खेल लोगो,ऑनलाइन गेम कुकिंग,ऑनलाइन पोकर zadarmo,परिमच वोड,पोकर पेस्ट,री फुटबॉल हाई स्कूल,रूलेट केरेको,रम्मीकल्चर गेम कैसा खेला जाता है,स्लॉट मशीन याकूब एक ड्रैगन की तरह,खेल पेय,स्पोर्ट्सनेट 0,टेक्सास होल्डम जिंगा डाउनलोड,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल मेस्सी,बैकारेट खेलने के लिए कौन सा कैसीनो सबसे सुरक्षित है,21 बजे live,ऑनलाइन पैसे बनाएं bihar,क्रिकेट एकेडमी फ्री,गोवा यात्रा,तीन पत्ती बैकग्राउंड,बकरी ज्ञापन कैसे हो,बैकारेट word,स्टेटस ॲप्स डाऊनलोड, .लंबी अवधि में क्‍या क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में मदद करेगी?

अपने पोर्टफोलियो में इस एसेट को जोड़ते समय कुछ बातों का ध्यान रखने की जरूरत है
रुद्र 20 साल के हैं. वह एक कॉलेज में फाइनेंस के छात्र हैं. एक साल से वह इक्विटी और फिक्‍स्‍ड एसेट में निवेश कर रहे हैं. उन्‍हें दूसरे एसेट क्लास की भी तलाश है. क्‍या उन्‍हें क्रिप्‍टोकरेंसी के बारे में विचार करना चाहिए? अगर हां तो वह इस दिशा में कैसे बढ़ सकते हैं? लंबी अवधि में पैसा बनाने के लिए उन्‍हें क्‍या करना चाहिए?

आइए, जानते हैं कि एक्‍सपर्ट उन्‍हें क्‍या सलाह दे रहे हैं.

पीपीएफएएस म्यूचुअल फंड में सीएफपी और हेड-प्रोडक्‍ट्स जयंत आर पई कहते हैं कि यह बहुत अच्‍छा हैं कि रुद्र ने काफी कम उम्र से पैसा बनाने की तरफ कदम बढ़ाए हैं. वैसे तो हाल में क्रिप्‍टोकरेंसी पैसा बनाने में बहुत सफल जरिया रहा है. लेकिन, अपने पोर्टफोलियो में इस एसेट को जोड़ते समय दो बातों का ध्यान रखने की जरूरत है :

इसे भी पढ़ें : म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

- प्रमुख एसेट क्लास की तुलना में क्रिप्‍टोकरेंसी में मूल्यों में अस्थिरता बहुत ज्यादा होती है. क्‍या आपके पास इस तरह के उतार-चढ़ाव को बर्दाश्त करने की क्षमता है. क्‍या रुद्र आर्थिक रूप से उतना सक्षम हैं.

इसे भी पढ़ें : क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

- भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं. अगर भविष्य में कोई प्रतिकूल फैसला लिया जाता है तो रुद्र एक खराब लिक्विडिटी वाले एसेट में फंस जाएंगे. अच्‍छा होगा कि वह इक्विटी और फिक्‍स्‍ड इनकम में अपने निवेश को बनाकर रखें. कारण है कि इनके भविष्य को लेकर किसी तरह का असमंजस नहीं है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीट्रेडिंगएसेट क्‍लासभारतीय नियामकपोर्टफोलियो

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन को बढ़ावा देने के लिए दुनिया को साथ आना चाहिए: आर के सिंह

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय मंत्री आर के सिंह ने बुधवार को कहा कि अंतररराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) को बढ़ावा देने के लिये दुनिया के देशों को साथ आना चाहिए। इस गठबंधन में वैश्विक स्तर पर 80 करोड़ लोगों को ऊर्जा उपलब्ध कराने की संभावना है।आईएसए की आमसभा को संबोधित करते हुए बिजली और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री ने कहा, ‘‘ऊर्जा बदलाव की तुलना में सभी तक बिजली की पहुंच की समस्या का समाधान ज्यादा महत्वपूर्ण है। बिजली से वंचित लोगों के लिये ऊर्जा में बदलाव का कोई मतलब नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘आज दुनियाभर में 80 करोड़ लोगोंनयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) विदेश में पढ़ाई करने की इच्छा रखने वाले कम से कम 52 प्रतिशत विद्यार्थी विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा के मुकाबले विशिष्ट पाठ्यक्रमों को तरजीह दे रहे हैं। एक नवीनतम अध्ययन में यह जानकारी दी गई है। वैश्विक वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनी वेस्टर्न यूनियन द्वारा नीलसन आईक्यू द्वारा कराए गए अध्ययन के नतीजों के मुताबिक अब 64 प्रतिशत विद्यार्थी उन देशों और विश्वविद्यालयों को पढ़ाई के लिए प्राथमिकता दे रहे हैं जहां पर प्रवेश परीक्षा या अंग्रेजी में पांरगत होने की अनिवार्यता नहीं है। अध्ययन में कहा गया, ‘‘विदेश में पढ़ाई करने के इच्छुक विद्यार्थियों मेंअंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन को बढ़ावा देने के लिए दुनिया को साथ आना चाहिए: आर के सिंह

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.लंदन, 20 अक्टूबर (एपी) ब्रिटेन के प्रतिस्पर्धा नियामक ने सोशल मीडिया मंच फेसबुक पर नियमों के उल्लघंन को लेकर 6.94 करोड़ डॉलर (5.05 करोड़ पाउंड) का जुर्माना लगाया है। नियामक के अनुसार यह जुर्माना फेसबुक द्वारा ऑनलाइन डेटाबेस कंपनी 'गिफी' की खरीद संबंधी जांच के दौरान नियमों के उल्लंघन को लेकर लगाया गया है। ब्रिटेन के प्रतिस्पर्धा और बाजार प्राधिकरण (सीएमए) ने कहा कि फेसबुक जांच के दौरान आवश्यक जानकारी प्रदान करने में विफल रही। सोशल मीडिया कंपनी को कई चेतावनियां दी गईं, लेकिन ऐसा लगता है कि उसने जानबूझकर नियमों के अनुपालन में गलतियां कीं। प्राधिकरण ने कहाइंदौर में सोने के भाव में गिरावट, चांदी मजबूत

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
क्रिकेट मैच लाइव

बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.

स्पोर्ट्स कॉम लाइव स्ट्रीम

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी बीएसएनल को देश में इनमारसैट के ग्लोबल एक्सप्रेस (जीएक्स) मोबाइल ब्रॉडबैंड सेवाओं की पेशकश को लेकर लाइसेंस मिला है। इससे इनमारसैट टर्मिनल का उपयोग कर एयरलाइन के लिये उड़ानों के दौरान तथा समुद्री जहाजों को उच्च गति की संपर्क सुविधा दी जा सकेगी। ब्रिटेन की मोबाइल सैटेलाइट संचार कंपनी इनमारसैट ने बुधवार को यह घोषणा की। इनमारसैट इंडिया के प्रबंध निदेशक गौतम शर्मा ने पीटीआई-भाषा से कहा कि स्पाइसजेट लि. और शिपिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया पहले ही नई जीएक्स सेवाओं के लिये समझौते कर चुकी हैं। इससे 50 एमबीपीएस की क्षमता

भारत में सर्वश्रेष्ठ पांच एलईडी टीवी

इंदौर, 20 अक्टूबर (भाषा) स्थानीय सर्राफा बाजार में बुधवार को सोना के भाव में 100 रुपये प्रति 10 ग्राम की कमी हुई। आज चांदी 400 रुपये प्रति किलोग्राम महंगी बिकी।कारोबारियो के अनुसार मूल्यवान धातुओं के औसत भाव इस प्रकार रहे।सोना 48900 रुपये प्रति 10 ग्राम,चांदी 65600 रुपये प्रति किलोग्राम,चांदी सिक्का 750 रुपये प्रति नग।

लॉटरी नंबर आज का

न्यूयॉर्क, 20 अक्टूबर (एपी) बिटकॉइन का मूल्य बुधवार को रिकॉर्ड 66,000 डॉलर के पार पहुंच गया। इससे बाजार काफी रोमांचित है। ऐसा कहा जा रहा है कि वित्तीय प्रतिष्ठानों के बीच बिटकॉइन की स्वीकार्यता बढ़ रही है। बिटकॉइन का मूल्य पूर्वी समय के अनुसार, सुबह 10:52 बजे 7.6 प्रतिशत बढ़कर 66,901.30 डॉलर पर पहुंच गया। गर्मियों में यह 30,000 डॉलर के निचले स्तर पर आ गया था। कॉइनडेस्क के अनुसार, इससे पहले बिटकॉइन का रिकॉर्ड 64,889 डॉलर का था। एक दिन पहले बिटकॉइन से जुड़े एक्सचेंज ट्रेडेड कोष (ईटीएफ) में निवेशकों ने भारी रुचि दिखाई। इससे भी क्रिप्टोकरेंसी को प्रोत्साहन

lovebet थाई फेसबुक

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक स्तर पर ऊर्जा संकट के बीच भारत ने अपने सबसे बड़े गैस आपूर्तिकर्ता कतर से 2015 के 50 एलएनजी कार्गो की आपूर्ति अब करने को कहा है। छह साल पहले इसे काफी अधिक महंगा माना गया था। देश की सबसे बड़ी तरलीकृत गैस आयातक पेट्रोनेट एलएनजी ने कतर से 2022 में उन 50 कार्गो की आपूर्ति करने को कहा है, जिसे उसने 2015 में नहीं लिया था। कंपनी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अक्षय कुमार सिंह ने सेरा वीक के इंडिया एनर्जी फोरम में अलग से यह जानकारी दी।

संबंधित जानकारी
वोंग क्वे fun88

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) विदेश में पढ़ाई करने की इच्छा रखने वाले कम से कम 52 प्रतिशत विद्यार्थी विश्वविद्यालय की प्रतिष्ठा के मुकाबले विशिष्ट पाठ्यक्रमों को तरजीह दे रहे हैं। एक नवीनतम अध्ययन में यह जानकारी दी गई है। वैश्विक वित्तीय सेवा प्रदाता कंपनी वेस्टर्न यूनियन द्वारा नीलसन आईक्यू द्वारा कराए गए अध्ययन के नतीजों के मुताबिक अब 64 प्रतिशत विद्यार्थी उन देशों और विश्वविद्यालयों को पढ़ाई के लिए प्राथमिकता दे रहे हैं जहां पर प्रवेश परीक्षा या अंग्रेजी में पांरगत होने की अनिवार्यता नहीं है। अध्ययन में कहा गया, ‘‘विदेश में पढ़ाई करने के इच्छुक विद्यार्थियों में

गरम जानकारी