असुका पार्टी

असुका पार्टी

time:2021-10-27 12:45:30 एडीबी आइजोल में शहरी परिवहन के लिए 45 लाख डॉलर का परियोजना वित्त पोषण ऋण प्रदान करेगा Views:4591

जैकपॉट तमिल फिल्म ऑनलाइन असुका पार्टी 188bet ऐप,casumo कोटियुटस कोकेमुक्शिया,लीवगैस निकासी का समय,lovebet जमा प्रतिबिंबित नहीं कर रहा है,lovebet ओ'ऑर्गनिश,lovebet.com समीक्षा,एयू क्रिकेट टीम,बैकरेट गेम स्टैंड-अलोन संस्करण,बैकारेट जीतने की रणनीति पीडीएफ,बेटिंग क्यूएलडी,कैसीनो दा पोवोआ एस्टा एबर्टो,कैसीनो xpt,कॉम लॉटरी संबाद,क्रिकेट समाचार हिंदी में,ओलंपिक में निर्यात,प्रसिद्ध सट्टेबाजी एक्सचेंज,फ़ुटबॉल रील,ggpoker,बैकारेट में जीतने या हारने की संभावना की गणना कैसे करें,आईपीएल स्कोर,जैक कोरज़ीस्टाć ज़ लवबेट,लाइव कैसीनो बोनस भारत,लॉटरी 6 तारीख,लूडो ऐप,नेटवर्क 3डी रूले,ऑनलाइन मनोरंजन मंच,ऑनलाइन पोकर प्ले मनी,परिमच मूवी डाउनलोड,पोकर कुर्लारı,रील स्लॉट मोबाइल,घातांक का नियम,रम्मी 'ऐदिमास',स्लॉट मशीन भुगतान,स्पोर्ट्स औ कनाडा,चार्ल्सटन नेक्स्टॉन की स्पोर्ट्सबुक,टेक्सास होल्डम त्वरित गाइड,यात्रा रम्मी पॉइंट गेम्स,फ़ुटबॉल खाता अधिक स्थिर कहाँ है,हाँ ई-स्पोर्ट्स एशिया होल्डिंग्स लिमिटेड,ऑनलाइन गेम play,क्रिकेट live स्कोर भारत,गोवा तरुण भारत,तीन पत्ती एपीके,बकरा गेम,बेताब दिल है,लॉटरी हरिओम, .एडीबी आइजोल में शहरी परिवहन के लिए 45 लाख डॉलर का परियोजना वित्त पोषण ऋण प्रदान करेगा

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) भारत सरकार और एशियाई विकास बैंक ने मंगलवार को मिजोरम की राजधानी आइजोल में शहरी परिवहन का समर्थन करने के लिए परियोजनाओं की तैयारी से लेकर सुचारू क्रियान्वयन को लेकर 45 लाख डॉलर की परियोजना वित्तपोषण (प्रोजेक्ट रेडिनेस फाइनेंसिंग-पीआरएफ) ऋण समझौता किया।

आगामी परियोजना, जिसे पीआरएफ के माध्यम से विकसित किया जा रहा है, के तहत स्थायी शहरी परिवहन समाधानों को अपनाकर शहर की परिवहन समस्याओं को हल करना है।

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि तेजी से और अनियोजित शहरीकरण के कारण आइजोल में शहरी परिवहन व्यवस्था गंभीर रूप से बाधित है। इसके परिणामस्वरूप यातायात में भीड़भाड़ होती है, और सड़क सुरक्षा, लोगों और सामानों की आवाजाही में सुगमता और पर्यावरणीय स्थिरता पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।

वित्त मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव रजत कुमार मिश्रा ने प्रस्तावित आइजोल टिकाऊ शहरी परिवहन परियोजना के लिए भारत सरकार की ओर से पीआरएफ पर हस्ताक्षर किए, जबकि एडीबी के इंडिया रेजिडेंट मिशन के क्षेत्रीय निदेशक ताकेओ कोनिशी ने एडीबी के लिए हस्ताक्षर किए।

मिश्रा ने कहा कि पीआरएफ आगामी परियोजना के लिए उच्च प्राथमिकता वाले शहरी परिवहन निवेश की पहचान करके आइजोल में शहरी परिवहन में सुधार के दीर्घकालिक समाधानों का समर्थन करता है।

कोनिशी ने कहा, ‘‘पीआरएफ आइजोल के लिए एक व्यापक परिवहन योजना (सीएमपी) विकसित करेगा जो शहरी परिवहन विकास रणनीति की रूपरेखा तैयार करेगी और राज्य में शहरी विकास योजना पहल के साथ तालमेल बनाएगी।’’

पीआरएफ, सीएमपी में पहचानी गई प्राथमिकता वाली परियोजनाओं के लिए व्यवहार्यता अध्ययन करेगा और आगामी परियोजना के लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट और विस्तृत डिजाइन तैयार करेगा।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

13 mins read
Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र की जलविद्युत कंपनी एनएचपीसी ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए सरकार को 249.44 करोड़ रुपये का अंतिम लाभांश दिया है। बिजली मंत्रालय ने मंगलवार को बयान में यह जानकारी दी। बयान के अनुसार, एनएचपीसी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक एक के सिंह ने 26 अक्टूबर को केंद्रीय बिजली, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री को इस बारे में भुगतान सूचना सौंपी। इस मौके पर बिजली सचिव आलोक कुमार भी मौजूद थे। इसके अलावा पांच मार्च, 2021 को कंपनी ने 890.85 करोड़ रुपये का अंतरिम लाभांश दिया था। इस तरह बीते वित्त वर्ष केसितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.दूसरी तिमाही में एनसीएईआर का कारोबारी विश्वास सूचकांक 90 प्रतिशत बढ़ा

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है.नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) शोध संस्थान नेशनल काउंसिल ऑफ एप्लाइड इकनॉमिक रिसर्च (एनसीएईआर) ने सुधार के संकेत देते हुए मंगलवार को कहा कि उसका कारोबारी विश्वास सूचकांक (बीसीआई) चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले जुलाई-सितंबर तिमाही में 90 प्रतिशत बढ़ा है। एनसीएईआर ने एक विज्ञप्ति में कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद 2021-22 की दूसरी तिमाही में कारोबारी धारणा में इससे पिछली तिमाही की तुलना में सुधार हुआ है। बीसीआई में तिमाही-दर-तिमाही (क्यू-ओ-क्यू) आधार पर 90 प्रतिशत और साल-दर-साल (वाई-ओ-वाई) आधार पर लगभग 80एसबीआई इस साल 14,000 लोगों की भर्ती करेगा

जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है.नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) बजाज फाइनेंस का एकीकृत शुद्ध लाभ सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 53 प्रतिशत बढ़कर 1,481 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) बजाज फाइनेंस ने इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 965 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। बजाज फाइनेंस ने बयान में कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय 19 प्रतिशत बढ़कर 7,732 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 6,520 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान कंपनी की ब्याज आय 16 प्रतिशत बढ़कर 5,763रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
स्पोर्टपेसा जैकपॉट खेल विश्लेषण

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) राष्ट्रीय वित्तीय रिपोर्टिंग प्राधिकरण (एनएफआरए) कारोबारी सुगमता और आर्थिक चुनौतियों के साथ-साथ महत्तम नियमनों को ध्यान में रखते हुए अपने सांविधिक कर्तव्यों का निर्वहन करने के लिए प्रतिबद्ध है। एनएफआरए के प्रमुख अशोक कुमार गुप्ता ने मंगलवार को एक वेबिनार को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि जनहित संस्थाओं के मामले में उपयोगकर्ताओं के विश्वास को बढ़ाने के लिए ऑडिट की आवश्यकता और भी अधिक है क्योंकि इसमें सार्वजनिक हित जुड़ा होता है।

अधिक मजेदार और निष्पक्ष ऑनलाइन कैसीनो कहां हैं

सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.

महजोंग सॉलिटेयर

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है.

स्पोर्ट्सबुक यूनिट

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र के यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने अपने आवास ऋण पर ब्याज दरों को घटाकर 6.40 प्रतिशत के सर्वकालिक निचले स्तर पर ला दिया है। नयी दरें 27 अक्टूबर से लागू होंगी। बैंक ने बयान में कहा कि उसके आवास ऋण पर ब्याज दर अब 6.40 प्रतिशत से शुरू होगी। यह बैंक के लिए अबतक की सबसे निचली आवास ऋण दर है। बैंक ने कहा कि नये ऋण के लिए आवेदन करने वाले ग्राहकों के अलावा अपने मौजूदा कर्ज को स्थानांतरित करने वाले उपभोक्ताओं को भी इसका लाभ मिलेगा।

भा फुटबॉल परिणाम

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) बजाज फाइनेंस का एकीकृत शुद्ध लाभ सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 53 प्रतिशत बढ़कर 1,481 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) बजाज फाइनेंस ने इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 965 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। बजाज फाइनेंस ने बयान में कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय 19 प्रतिशत बढ़कर 7,732 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 6,520 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान कंपनी की ब्याज आय 16 प्रतिशत बढ़कर 5,763

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
जो कार्टून

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि दो महीनों में ई-श्रम पोर्टल पर 5 करोड़ से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। यह असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के बारे में पहला संगठित रूप से एकत्रित राष्ट्रीय आंकड़ा है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दो महीनों में 5 करोड़ से अधिक कामगारों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है। इसमें निर्माण, परिधान, विनिर्माण, मत्स्य, खोमचे-रेहड़ी पटरी वाले, ठेका कर्मी, घरों में काम करने वाले, कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों