बैकरेट सट्टेबाजी सूचना नेटवर्क

बैकरेट सट्टेबाजी सूचना नेटवर्क

time:2021-10-27 12:38:10 इस साल 7.7% होगा औसत इंक्रीमेंट, जानिए किस सेक्‍टर में सबसे ज्‍यादा बढ़ेगी सैलरी Views:4591

casumo कार्यालय बैकरेट सट्टेबाजी सूचना नेटवर्क betway का हिंदी,fun88 निकासी की समस्या,lovebet 6 राष्ट्र,lovebet जा,lovebet टोटेनहम,365 कैसीनो आईपैड,बैकारेट बियरब्रिक,बैकरेट परिशुद्धताप्ले Play,mrcp भाग 1 के लिए सर्वश्रेष्ठ पाँच प्रश्न,सी पोकर हाथ,कैसीनो एनबी,शतरंज एन पास नियम,क्रिकेट चैनल,क्रिकेटज़ीन,यूरोपीय कप फुटबॉल खेल वीडियो,फ़ुटबॉल चैंपियंस लीग फ़ाइनल,जुआ मुक्त बोनस,खुश किसान जैविक खाद,भारत शर्त संपर्क नंबर,जैकपॉट क्रिकेट,नवीनतम सट्टेबाजी युक्तियाँ,लाइव ऑनलाइन लाठी ऑस्ट्रेलिया,लॉटरी एन.जे. परिणाम,एम.क्रिकबज,ऑनलाइन कैसीनो echtgeld,ऑनलाइन खेल याद,ऑनलाइन स्लॉट प्रोमो कोड,पोकर 52,पोकर जिंगा APK,रूले रूसी,रम्मी मैं ओ,सबा बैकरेट कैश नेटवर्क,स्लॉट एलवी बोनस कोड,खेल के जूते ऑनलाइन,तीन पत्ती मनी,लवबेट समूह,आभासी क्रिकेट ऑनलाइन,विलियम हिल एंटरटेनमेंट प्लेटफॉर्म,s स्टेटस,कसीनो में,खेल लॉटरी canada,जैकपोट india.com,पोकर चंपा,बास्केटबाल पूर्ण सुपरस्टार,रीना शर्मा,स्टेटस महाकाल, .इस साल 7.7% होगा औसत इंक्रीमेंट, जानिए किस सेक्‍टर में सबसे ज्‍यादा बढ़ेगी सैलरी

एयॉन के अनुसार, 2019 में भारत में कंपनियों ने औसतन 9.3 फीसदी की वेतन बढ़ोतरी की थी.
इस साल कर्मचारियों के वेतन में औसतन 7.7 फीसदी की बढ़ोतरी हो सकती है. ज्‍यादातर कंपनियों ने 2021 में इंक्रीमेंट के लिए कहा है. सैलरी पर एयॉन के 25वें सालाना सर्वे में यह बात कही गई है.

इस सर्वे में देश की 1,200 कंपनियों को शामिल किया गया. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है. यह अलग बात है कि वे अब भी कोरोना के झटके से उबर रही हैं. 2020 में सख्‍त लॉकडाउन के बावजूद भारत ब्रिक्‍स देशों में सबसे ज्‍यादा इंक्रीमेंट के अनुमान जताने वालों में है.

इसे भी पढ़ें : सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी

एयॉन के अनुसार, 2019 में भारत में कंपनियों ने औसतन 9.3 फीसदी की वेतन बढ़ोतरी की थी. सर्वे में कहा गया है कि जहां सैलरी इंक्रीमेंट मजबूत रिकवरी को दर्शाता है. वहीं, नए वेज कोड पासा पलटने वाले साबित हो सकते हैं. सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई.

भारत में एयॉन के परफॉर्मेंस और रिवॉर्ड बिजनेस के सीईओ व पार्टनर नितिन सेठी ने कहा, ''हमें उम्‍मीद है कि 2021 के लिए इंक्रीमेंट के समीकरण लंबी अवधि के लिए बनेंगे. इनसे आने वाले बदलावों की नींव पड़ेगी.''

इसे भी पढ़ें : इन तरीकों से आप घर बैठे कमा सकते हैं पैसा

उन्‍होंने बताया कि उम्‍मीद है कि संस्‍थान साल की दूसरी छमाही में अपने कम्‍पनसेशन बजट में बदलाव करेंगे. लेबर कोड के वित्‍तीय असर का वास्‍तविक अनुमान लग जाने के बाद ऐसा किया जाएगा.

सर्वे के अनुसार, सबसे ज्‍यादा इंक्रीमेंट करने वाले सेक्‍टर पिछले साल वाले ही होंगे. इनमें इनफॉर्मेशन टेक्‍नोलॉजी (आईटी), आईटीईएस (आईटी इनेबल्‍ड सर्विसेज), लाइफ साइंसेज, ई-कॉमर्स और फास्‍ट मूविंग कंज्‍यूमर गुड्स (एफएमसीजी) शामिल हैं.

एयॉन में पाटर्नर (ह्यूमन कैपिटल बिजनेस) रूपंक चौधरी ने कहा, ''यहां ध्‍यान देने वाली बात यह है कि जिन सेक्‍टरों पर कोविड-19 का बुरा असर पड़ा था, वे भी 5-6 फीसदी की रेंज में बढ़त दर्ज कर रहे हैं. इनमें रिटेल, हॉस्पिटैलिटी और रियल एस्‍टेट शामिल हैं.''

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

वेतनवृद्ध‍िइंक्रीमेंटवेतन बढ़ोतरीएयॉनसर्वे

ETPrime stories of the day

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read
Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) देश में कई साइबर सुरक्षा संगठन हैं लेकिन ऑनलाइन क्षेत्र में सुरक्षा के लिए कोई जवाबदेह केंद्रीय निकाय नहीं है। राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक (एनसीएससी) राजेश पंत ने मंगलवार को यह कहा। उन्होंने यह भी कहा कि प्रस्तावित राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति सुरक्षा व्यवस्था के तहत इस अंतर को दूर करेगी। पंत ने कहा कि भारत में उत्कृष्ट संगठन हैं और पिछले एक साल में देश में साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में ‘शानदार’ बदलाव हुए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘कुल मिलाकर एक व्यवस्था मौजूद है लेकिन संचालन से जुड़े नियमोंधनतेरस स्टोर (Amazon Dhanteras Store) बेहतर मूल्य और सुविधा के साथ उभरते हुए छोटे और मझोले उपक्रमों के हजारों उत्पादों के सबसे बड़े सेलेक्शन की पेशकश भी करेगा। घर के लिए त्योहार की सजावट से जुड़े उत्पादों से लेकर इथनिक वियर तक ​की खोज कर सकते हैं।सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी

महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.बीते वित्त वर्ष में सैमसंग इंडिया का शुद्ध लाभ 39 प्रतिशत बढ़ा, आय स्थिर

धनतेरस स्टोर (Amazon Dhanteras Store) बेहतर मूल्य और सुविधा के साथ उभरते हुए छोटे और मझोले उपक्रमों के हजारों उत्पादों के सबसे बड़े सेलेक्शन की पेशकश भी करेगा। घर के लिए त्योहार की सजावट से जुड़े उत्पादों से लेकर इथनिक वियर तक ​की खोज कर सकते हैं।नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) ने बाजार नियामक सेबी के आदेश पर आंशिक रूप से रोक लगाकर कोटक महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी को राहत दी है। सेबी ने अपने आदेश में कोटक महिंद्रा एसेट मैनेजमेंट कंपनी को यूनिटधारकों से लिये गये निवेश प्रबंधन और परामर्श शुल्क का एक हिस्सा लौटाने को कहा था। इसके अलावा, अपीलीय न्यायाधिकरण ने संपत्ति प्रबंधन कंपनी (एएमसी) से चार सप्ताह के भीतर ब्याज वाले खाते में 20 लाख रुपये जमा करने को कहा है। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने अगस्त में एएमसी से छह ‘फिक्स्ड मैच्यूरिटी प्लान’ (एफएमपी) योजनाओंऐमजॉन ने लॉन्च किया धनतेरस स्टोर, पूजा के सामान से लेकर सोने-चांदी तक की हो सकेगी खरीदी

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
क्रिकेट इंडिया

डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.

ऑनलाइन कैसीनो कोई जमा बोनस कोड नहीं

पिछले साल से अब तक बड़े उतार-चढ़ाव हुए हैं. लोगों ने कोरोना की महामारी के कहर को देखा और अब जिंदगी को पटरी पर लौटते देख रहे हैं. शायद ही यह दौर भुलाए भूलेगा. हालांकि, इससे कई सबक भी मिले हैं. ये करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.

कैसीनो गौरव 2

जब संस्‍थान में किसी कर्मचारी को नौकरी छोड़ने के लिए कहा जाता है तो वे आमतौर पर चौंक जाते हैं. लेकिन, कई मामलों में इसके संकेत पहले से मिलने लगते हैं. बात सिर्फ इतनी होती है कि कर्मचारी इन संकेतों का मतलब समझकर सुधार की दिशा में कदम नहीं उठा पाते हैं. आइए, यहां ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं.

शाही सड़क

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.

188bet रट टीएन खोंग डुओक

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी