आईओएस के लिए 10cric

Publishing time:2021-10-27 11:29:33

शतरंज 64 वर्ग आईओएस के लिए 10cric 10cric ऐप कस्टमर केयर नंबर,betway टोल फ्री नंबर भारत,लियोवेगास उच्चतम आरटीपी,lovebet और हिल,lovebet लॉगिन ऐप डाउनलोड,lovebet बनाम 4rabet,एक फुटबॉल मैदान,बैकरेट सहयोग,बैकरेट गुप्त,बेटिंग बंगाराजू कास्ट,कैसीनो 2020,कैसीनो रोड सनीसाइड बीच न्यू ब्रंसविक,चेसन स्ट्रीट डायनेला,क्रिकेट जी के प्रश्न अंग्रेजी में,विचलन 0-0 lovebet,यूरोपीय कप शेड्यूल बेटिंग,फुटबॉल मैं बेचता हूँ,जीक्लब लवबेट,एचडी क्रिकेट लाइव ऐप,आईओएस 12 बीटा 7,जैकपॉट इंटरएक्टिव गेम्स,लाइव लाठी कनाडा reddit,लाइव रूले ऑनलाइन बेटिंग,लॉटरी स्कैनर,मोंग कै कैसीनो, वियतनाम,ऑनलाइन कैसीनो समाचार,ऑनलाइन पैसे कैसे बनाये,पी फुटबॉल लोगो,पोकर चिप सेट,प्रीमियर गेम्स जैकपॉट rdc,शाही कीचड़,रम्मी नबोब मॉड APK,स्लॉट 396,स्लॉट वाई रनुरास,Sports.com लाइव,टेक्सास होल्डम सट्टेबाजी आदेश,बैकारेट कैसे जीत सकता है इसका रहस्य,पासा खेलने के लिए सट्टेबाजी के कौन से तरीके इस्तेमाल किए जाते हैं,विश्व फुटबॉल यूरोपीय कप रैंकिंग,इंडोनेशिया पांच अंक,कैसीनो के खेल file,गरेना फ्री फायर नेम,जोकर भूत की कहानी,फुटबॉल जूता,बेटा जनमई दोगे,लॉटरी ticket,स्पोर्ट्स जनरल नॉलेज pdf .मिलों ने 2021-22 सत्र में अबतक 18 लाख टन चीनी निर्यात के लिए अनुबंध किए : सरकार

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

मिलों ने 2021-22 सत्र में अबतक 18 लाख टन चीनी निर्यात के लिए अनुबंध किए : सरकार

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि चीनी मिलों ने इस महीने से शुरू होने वाले विपणन वर्ष 2021-22 में अब तक 18 लाख टन चीनी निर्यात का अनुबंध किया है तथा चीनी उद्योग की कंपनियों को अधिशेष स्टॉक को समाप्त करने के लिए कम से कम 60 लाख टन का निर्यात करने को कहा गया है।

चीनी मिलों को नए निर्यात गंतव्यों का पता लगाने के लिए कहा गया है, क्योंकि अफगानिस्तान में घरेलू अस्थिरता के कारण वहां निर्यात प्रभावित हो सकता है।

अखिल भारतीय चीनी व्यापार संघ (एआईएसटीए) द्वारा आयोजित एक वेबिनार को संबोधित करते हुए खाद्य सचिव सुधांशु पांडेय ने कहा कि भारत पिछले चार विपणन वर्षों से अधिशेष चीनी का उत्पादन कर रहा है, जबकि पिछले साल देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से होटल और रेस्तरां बंद होने के कारण खपत में गिरावट आई है।

उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि सरकार की नीति ने चीनी क्षेत्र को भारतीय बाजार और विदेशों में अपनी स्थिति को फिर से परिभाषित करने में मदद की है।

पांडेय ने कहा कि भारत ने विपणन वर्ष 2020-21 (अक्टूबर-सितंबर) में विभिन्न देशों को 72 लाख टन चीनी का रिकॉर्ड निर्यात किया।

उन्होंने कहा कि कुल निर्यात में से लगभग 50 प्रतिशत का निर्यात श्रीलंका, इंडोनेशिया और अफगानिस्तान को किया गया। पांडेये ने कहा, ‘‘हम सभी निर्यात के लिए नए अवसरों की तलाश कर रहे हैं। निर्यात के लगभग 18 लाख टन के अनुबंधों का क्रियान्वयन किया गया है।’’

सचिव ने कहा कि भारत को विपणन वर्ष 2021-22 में इंडोनेशिया को अपनी चीनी निर्यात करने में थाइलैंड से प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा, ‘‘अफगानिस्तान में अस्थिरता वहां होने वाले निर्यात को प्रभावित कर सकती है।’’ उन्होंने कहा कि श्रीलंका भी विदेशी मुद्रा की कमी का सामना कर रहा है।

पांडेय ने सुझाव दिया कि उद्योग को एक नई व्यवस्था करनी पड़ सकती है ताकि वह श्रीलंका को चीनी निर्यात कर सके।

अधिशेष स्टॉक से निपटने के लिए, सचिव ने कहा कि लगभग 25 लाख टन चीनी को पेट्रोल के साथ मिश्रित किये जाने वाले एथनॉल के विनिर्माण के लिए हस्तांतरित किया जाए।

पांडेय ने कहा कि वर्ष 2023 तक, 60 लाख टन चीनी का इस्तेमाल एथनॉल के लिए किए जाने का लक्ष्य है।

कोविड महामारी, जलवायु परिवर्तन और तनावों को प्रमुख चुनौतियां बताते हुए, सचिव ने कहा कि सस्ती दरों पर चीनी की उपलब्धता सुनिश्चित करने की आवश्यकता है।

पांडेय ने आश्वासन दिया, ‘‘सरकार इस क्षेत्र का समर्थन जारी रखेगी ताकि यह क्षेत्र अपनी लाभप्रदता बनाए रखे।’’

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

13 mins read
Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
मिलों ने 2021-22 सत्र में अबतक 18 लाख टन चीनी निर्यात के लिए अनुबंध किए : सरकार

हाल में इनपुट कॉस्‍ट में बढ़ोतरी का हवाला देते हुए मारुति सुजुकी इंडिया, रेनॉ इंडिया, होंडा कार्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा, फोर्ड इंडिया, इसुजु, बीएमडब्ल्यू इंडिया, ऑडी इंडिया और हीरो मोटो कार्प जैसी वाहन कंपनियां पहले ही जनवरी से कीमतें बढ़ाने की घोषणा कर चुकी हैं.क्‍या इस वैलेंटाइन डे पर अपने पाटर्नर को खुश करने के लिए आपने गिफ्ट सेलेक्‍ट कर लिया है? नहीं, तो यहां हम आपको ट्रेडिशनल गिफ्ट से अलग हटकर कुछ ऐसे तोहफों के बारे में बता रहे हैं जो शायद आपके साथी को खूब पसंद आए.चिप संकट की वजह से यात्री वाहनों की बिक्री में वृद्धि घटकर 11-13 प्रतिशत रहेगी: रिपोर्ट

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा भारत के संभावित वृद्धि दर के अनुमान को संशोधित कर छह प्रतिशत करना ‘अत्यधिक कम अनुमान’ है। 15वें वित्त आयोग के चेयरमैन एन के सिंह ने मंगलवार को यह बात कही। आईएमएफ ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से भारत की वृद्धि की संभावना को नीचे किया है। सिंह ने अध्ययन एवं औद्योगिक विकास संस्थान (आईएसआईडी) द्वारा ‘विकास के लिए वित्तपोषण’ विषय पर आयोजित ‘ऑनलाइन’ परिचर्चा को संबोधित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि जो लोग अभी गरीबी से बचे हुए हैं, वे महामारीनयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) विदेशी बाजारों में तेजी के रुख से दिल्ली मंडी में मंगलवार को सरसों, सोयाबीन, सीपीओ और पामोलीन तेल- तिलहन के भाव में मजबूती रही जबकि अधिक फसल के बीच ऊंचे भाव के कारण मांग कमजोर होने से मूंगफली तेल-तिलहन और बिनौला तेल के भाव में गिरावट आई। बाकी भाव पूर्ववत बने रहे। बाजार सूत्रों ने कहा कि मलेशिया एक्सचेंज में 0.85 प्रतिशत की तेजी थी जबकि शिकॉगो एक्सचेंज 0.2 प्रतिशत तेज है। उन्होंने कहा कि त्योहारी मांग होने और स्टॉक की कमी के कारण सरसों तेल-तिलहन में सुधार है जबकि सस्ता बैठने के कारण आम लोगोंकार खरीदने जा रहे हैं? 15 लाख रुपये तक के बजट में ये हैं शानदार ऑप्‍शन

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सैमसंग इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स का बीते वित्त वर्ष 2020-21 का शुद्ध लाभ 39 प्रतिशत बढ़कर 4,040.9 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। हालांकि, वित्त वर्ष के दौरान कंपनी की परिचालन आय 75,886.3 करोड़ रुपये पर स्थिर रही। इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र की दिग्गज कंपनी के भारत में कारोबार में मोबाइल फोन खंड का हिस्सा सबसे अधिक है। इससे पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी का शुद्ध लाभ 2,902.6 करोड़ रुपये और परिचालन आय 75,451.5 करोड़ रुपये रही थी। बाजार और कंपनी के बारे में सूचना देने वाली कंपनी टॉफलर ने कंपनी पंजीयक के पास जमा कराए गए दस्तावेजोंक्‍या आप 2021 में कार खरीदने की योजना बना रहे हैं? अगर हां तो कारदेखो डॉट कॉम के साथ हम यहां आपको कुछ शानदार विकल्‍पों के बारे में बता रहे हैं. कार के ये मॉडल इस साल लॉन्‍च हो सकते हैं या हो गए हैं. हमने यहां 15 लाख से 40 लाख रुपये की कैटेगरी में सबसे अच्‍छी कारों को चुना है.वैलेंटाइन डे पर पुरुष ज्यादा खर्च करते हैं या महिलाएं?

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


बैकारेट में कार्ड कैसे रिकॉर्ड करें
लवबेट फोन नंबर
लाइव फ़ुटबॉल स्कोर ऑनलाइन
आईपीएल उर्वरक
फ़ुटबॉल या पुर्तगाल
ऑनलाइन कैसीनो भाग्यशाली
सट्टेबाजी के सामान्य नियम और तरीके
लाइव शतरंज कैसीनो
lovebet अपडेटेड वर्जन 2021
lovebet रजिस्टर
करीना मटका
दोस्तों के साथ ऑनलाइन पोकर
खिलाड़ी का गोदाम
मछली पकड़ने की भीड़
क्रिकेट अपडेट
पूल रम्मी टिप्स
टी स्लॉट बनाम 80/20
फुटबॉल सट्टेबाजी के लिए विश्वसनीय वेबसाइट
कॉलेज में ई-स्पोर्ट्स
कैसीनो वाई बिंगोस कुआंडो अब्रेन
स्टेटस रोमांटिक
असली पैसे के लिए पोकर ऐप्स
लूडो प्रश्नोत्तरी प्रश्न
जैकपॉट पिक्चर
बैकरेट क्रेडिट बेटिंग कंपनी
लॉटरी डे चार्ट
Baccarat जीतने के तरीके