तीन पत्ती में

तीन पत्ती में

time:2021-10-27 12:25:46 ओला-ऊबर नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया, सरकार ने जारी कीं नई गाइलाइंस Views:4591

तीन पत्ती कार्ड तीन पत्ती में 10cric कैसीनो,betway बनाम बेट365,लियोवेगास नौकरियां,lovebet ऐप प्रोमो कोड,lovebet एम कैसीनो घंटे,lovebet वापसी,एक पोकर हाथ में 5 कार्ड होते हैं,बैकारेट क्रिस्टल भारत,बैकरेट कौशल,बेटिंग कंपनी एजेंट संचार,कैसीनो 4k वॉलपेपर,कैसीनो श कोरोना,क्लासिक रम्मी ऐप स्टोर,क्रिकेट जीके प्रश्नोत्तरी हिंदी में,डीएच स्पोर्ट्स ऐप,यूरोपीय कप थीम सांग,फ़ुटबॉल लैंडिंग URL,उत्पत्ति कैसीनो ब्रांड,एचडी स्पोर्ट्स आईपीएल,आईपीएल बेस्ट टीम,जैकपॉट मूवी mp3 गाना डाउनलोड,Android के लिए लाइव लाठी,लाइव रूले आरटीपी,भारत में लॉटरी टिकट की कीमत,मिस्टेक कैसीनो,ऑनलाइन कैसीनो पेपैल,ऑनलाइन पोकर कार्ड गेम,Baccarat में जोड़े,पोकर कुत्ता,ऑनलाइन baccarat डेमो प्रदान करें,रॉयल विन ऐप,रम्मी पैशन मोबाइल ऐप,स्लॉट मशीन जन्मदिन का केक,स्लॉट्सडेलन 9,स्पोर्ट्सबुक सट्टेबाजी,टेक्सास होल्डम मुफ्त पूर्ण संस्करण डाउनलोड करें,द अनफॉरगिवेन क्रिकेट बुक रिव्यू,Baccarat के मंच क्या हैं,विश्व प्रारंभिक चीनी टीम समय सारिणी,इलेक्ट्रॉनिक खेल generator,कैसीनो के खेल login,गोल्डन ड्रैगन बॉल,जोकर वाला टिक टॉक,फुटबॉल पसंदीदा,बेटा ठाकुर ना लाइव प्रोग्राम,लॉटरी कूपन,स्पोर्ट्स न्यूज़ लाइव .ओला-ऊबर नहीं वसूल सकेंगे ज्यादा किराया, सरकार ने जारी कीं नई गाइलाइंस

ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियां सबसे पीक आवर्स के दौरान किराये में कई गुना बढ़ोतरी कर देती हैं. अब सरकार ने इन कंपनियों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है.
ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियां सबसे अहम समय यानी पीक आवर्स के दौरान किराये में कई गुना बढ़ोतरी कर देती हैं. लेकिन अब सरकार ने इन कंपनियों पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है.

सरकार ने शुक्रवार को ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियों के ऊपर मांग बढ़ने पर किराए बढ़ाने की एक सीमा लगा दी है. अब ये कंपनियां मूल किराए के डेढ़ गुने से अधिक किराया नहीं वसूल सकेंगी.

दरअसल सरकार का यह कदम अहम इसलिए भी हो जाता है, क्योंकि लोग कैब सेवाएं देने वाली कंपनियों के अधिकतम किराए पर लगाम लगाने की लंबे समय से मांग कर रहे थे. यह पहली बार है जब भारत में ओला और उबर जैसे कैब एग्रीगेटर्स को रेग्यूलेट करने के लिए सरकार ने दिशानिर्देश जारी किए हैं.

कार पूल करने वाले कमर्शियल प्लेटफॉर्म्स को भी नियमों का पालन करना होगा और इस लाइसेंस हालिस करना होगा. हालांकि, नए नियम तभी लागू होंगे, जब राज्य सरकारें उनसे जुड़ी अधिसूचना जारी करेंगे.

इसे भी पढ़ें: वैक्सीन का जायजा लेने पीएम मोदी पहुंचे अहमदाबाद, पुणे व हैदराबाद भी जाएंगे

कैब कंपनियों को डेटा स्थानीयकरण सुनिश्चित करना होगा कि डेटा भारतीय सर्वर में न्यूनतम तीन महीने और अधिकतम चार महीने उस तारीख से संग्रहीत किया जाए, जिस दिन डेटा जेनरेट किया गया था.

डेटा को भारत सरकार के कानून के अनुसार सुलभ बनाना होगा लेकिन ग्राहकों के डेटा को यूजर्स की सहमति के बिना शेयर नहीं किया जाएगा. कैब एग्रीगेटर्स को एक 24x7 कंट्रोल रूम स्थापित करना होगा और सभी ड्राइवरों को अनिवार्य रूप से हर समय कंट्रोल रूम से जुड़ा होना होग.

नए नियमों के मुताबिक, कैब कंपनी को बेस फेयर से 50 फीसदी कम चार्ज करने की अनुमति होगी. केंद्र सरकार ने एग्रीगेटर को रेगुलेट करने के लिए गाइडलाइन्स जारी किया है जिसका राज्य सरकारों को भी पालन करना अनिवार्य होगा.

वहीं, कैंसिलेशन फीस कुल किराए का दस प्रतिशत होगा, जो राइडर और ड्राइवर दोनों के लिए 100 रुपए से अधिक नहीं हो सकता. ड्राइवर को अब ड्राइव करने पर 80 फीसदी किराया मिलेगा, जबकि कंपनी को 20 प्रतिशत किराया ही मिल सकेगा.

मंत्रालय ने बयान में कहा है कि इससे पहले एग्रीगेटर का रेगुलेशन उपलब्ध नहीं था। अब इस नियम को ग्राहकों की सुरक्षा और ड्राइवर के हितों को ध्यान में रखकर बनाया गया है जिसे सभी राज्यों में लागू किया जाएगा. बता दें कि मोटर व्हीकल 1988 को मोटर व्हीकल एक्ट, 2019 से संशोधित किया गया है.



हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

केंद्र सरकारमोटर व्हीकल एक्टराज्य सरकारकैब एग्रीगेटर्सटैक्सीओलाकैब कंपनियांउबर

ETPrime stories of the day

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola
FMCG

Partying the Nolo way: New-age brands are offering choices beyond Pepsi and Coca-Cola

10 mins read
As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry
Recent hit

As airlines inch back to normalcy, vacant middle seats are a cause of worry

11 mins read
Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.
Policy and regulations

Skill or chance? The USD7 billion question that can make or break India’s online gaming industry.

12 mins read

फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी ने कहा कि वह व्हॉट्सएप पर एक नया शॉपिंग बटन पेश कर रही है जिससे लोगों को बिजनेस कैटलॉग खोजने में आसानी होगी.सरकार ने शुक्रवार को ओला और उबर जैसी कैब एग्रीगेटर कंपनियों के ऊपर मांग बढ़ने पर किराए बढ़ाने की एक सीमा लगा दी है.दूसरी तिमाही में एनसीएईआर का कारोबारी विश्वास सूचकांक 90 प्रतिशत बढ़ा

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) स्टैंडर्ड चार्टर्ड के एक सर्वेक्षण में कहा गया है कि भारत में अधिकांश संपन्न व्यक्तियों ने महामारी के बाद अपने जीवन के लक्ष्यों को फिर से निर्धारित किया है। हालांकि, कोरोना वायरस महामारी के कारण आत्मविश्वास की कमी उन्हें अपने नए लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए आवश्यक कदम उठाने से रोक रही है। ‘वेल्थ एक्सपेक्टेंसी रिपोर्ट-2021’ के अनुसार, भारत में 94 प्रतिशत लोगों ने अपने जीवन लक्ष्यों को महामारी के बाद फिर से निर्धारित किया है और 48 प्रतिशत ने कहा कि कोविड-19 की वजह से उनकापिछले सप्ताह फोर्ड इंडिया ने एक जनवरी से अपने विभिन्न मॉडलों की कीमतों में बढ़ोतरी की घोषणा की थी.बहुपक्षीय विकास बैंकों को समावेशी, हरित वृद्धि को निजी पूंजी जुटाने में तेजी लाने की जरूरत: सीतारमण

नयी दिल्ली, 28 अक्टूबर (भाषा) बजाज फाइनेंस का एकीकृत शुद्ध लाभ सितंबर में समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 53 प्रतिशत बढ़कर 1,481 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) बजाज फाइनेंस ने इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 965 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था। बजाज फाइनेंस ने बयान में कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल आय 19 प्रतिशत बढ़कर 7,732 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 6,520 करोड़ रुपये थी। तिमाही के दौरान कंपनी की ब्याज आय 16 प्रतिशत बढ़कर 5,763कीमतों में यह बढ़ोतरी विभिन्‍न मॉडलों में अलग-अलग होगी. यह वास्‍तव में कितनी होगी, इस बारे में जल्‍द ही डीलरों को बताया जाएगा.एडीबी आइजोल में शहरी परिवहन के लिए 45 लाख डॉलर का परियोजना वित्त पोषण ऋण प्रदान करेगा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
विश्व कप का सीधा प्रसारण

इस दिन भगवान धन्वंतरि की पूजा की जाती है. विष्णु के अवतार धन्वंतरि को आयुर्वेद का भगवान कहा जाता है. माना जाता है कि उन्होंने मानव जाति को आयुर्वेद का ज्ञान दिया.

स्पोर्ट्स हरियाणा

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) शोध संस्थान नेशनल काउंसिल ऑफ एप्लाइड इकनॉमिक रिसर्च (एनसीएईआर) ने सुधार के संकेत देते हुए मंगलवार को कहा कि उसका कारोबारी विश्वास सूचकांक (बीसीआई) चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के मुकाबले जुलाई-सितंबर तिमाही में 90 प्रतिशत बढ़ा है। एनसीएईआर ने एक विज्ञप्ति में कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के बाद 2021-22 की दूसरी तिमाही में कारोबारी धारणा में इससे पिछली तिमाही की तुलना में सुधार हुआ है। बीसीआई में तिमाही-दर-तिमाही (क्यू-ओ-क्यू) आधार पर 90 प्रतिशत और साल-दर-साल (वाई-ओ-वाई) आधार पर लगभग 80

असली ड्रैगन टाइगर क्रैकिंग

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) दूरसंचार अवसंरचना कंपनी इंडस टावर्स ने मंगलवार को कहा कि सरकार द्वारा घोषित सुधार पैकेज से इस क्षेत्र में उम्मीद का संचार हुआ है और उद्योग ढांचे के लिए जोखिम काफी कम हो गया है। इंडस टावर्स के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) बिमल दयाल ने दूसरी तिमाही के तिमाही नतीजों को जारी करने के मौके पर कहा कि कंपनी दूरसंचार संचालकों और क्षेत्रों में डेटा की अत्यधिक मांग से लाभान्वित हो रही है। सरकार द्वारा हाल ही में घोषित किए

आभासी क्रिकेट परिणाम

कीमतों में यह बढ़ोतरी विभिन्‍न मॉडलों में अलग-अलग होगी. यह वास्‍तव में कितनी होगी, इस बारे में जल्‍द ही डीलरों को बताया जाएगा.

रम्मी वुंगो कस्टमर केयर नंबर

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईबी) जैसे बहुपक्षीय विकास बैंकों को समावेशी और हरित विकास के लिये निजी क्षेत्र की पूंजी जुटाने के कार्यों में तेजी लाने की जरूरत है। एआईआईबी के संचालन मंडल की छठी सालाना बैठक में भाग लेते हुए वित्त मंत्री ने बहुपक्षीय बैंक से सामाजिक बुनियादी ढांचे के विकास के लिये निवेश अवसर तलाशने को भी कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी और जलवायु संकट ने बहुपक्षीय विकास बैंकों (एमडीबी) के महत्व और बहुपक्षीय विकास वित्त के साथ राष्ट्रों के प्रयासों

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
lovebetइंडिया

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि दो महीनों में ई-श्रम पोर्टल पर 5 करोड़ से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। यह असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के बारे में पहला संगठित रूप से एकत्रित राष्ट्रीय आंकड़ा है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दो महीनों में 5 करोड़ से अधिक कामगारों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है। इसमें निर्माण, परिधान, विनिर्माण, मत्स्य, खोमचे-रेहड़ी पटरी वाले, ठेका कर्मी, घरों में काम करने वाले, कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों

मार्क छह लॉटरी

नयी दिल्ली, 26 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने मंगलवार को कहा कि दो महीनों में ई-श्रम पोर्टल पर 5 करोड़ से अधिक लोगों ने पंजीकरण कराया है। यह असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले कर्मचारियों के बारे में पहला संगठित रूप से एकत्रित राष्ट्रीय आंकड़ा है। श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘दो महीनों में 5 करोड़ से अधिक कामगारों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।’’ विभिन्न क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों ने पोर्टल पर पंजीकरण कराया है। इसमें निर्माण, परिधान, विनिर्माण, मत्स्य, खोमचे-रेहड़ी पटरी वाले, ठेका कर्मी, घरों में काम करने वाले, कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों